Home Technology OpenAI voice engine: क्या है OpenAI का voice engine टूल

OpenAI voice engine: क्या है OpenAI का voice engine टूल

10
2
OpenAI voice engine

OpenAI voice engine: चैटजीपीटी के सक्सेस के बाद ओपनएआई एक और लेटेस्ट इनोवेशन को पेश कर दिया है जो सिर्फ 15 सेकंड के रेफरेंस ऑडियो की मदद से ही एक्यूरेट ऑडियो जनरेट कर सकता है। इसे OpenAI का Voice Engine बॉट कहा जा रहा है जो सिर्फ छोटे से ऑडियो के आधार पर ही क्लोन वॉयस जनरेट करने की क्षमता रखता है। AI वॉयस इंजन का फिलहाल परीक्षण किया जा रहा है लेकिन खास बात ये है कि ये कई भाषाओं को सपोर्ट करेगा जिसे दुनिया के हर लोग उपयोग कर पाएंगे।

OpenAI voice engine टूल से इन लोगों को होगा फायदा

इसे उन लोगों के लिए काफी फायदेमंद बताया जा रहा है जो पढ़ नहीं सकते, चीजों का अन्य भाषाओं में ट्रांसलेट नहीं कर सकते। कंपनी के अनुसार ये उन लोगों की भी मदद कर रहे हैं जो बोलने की क्षमता खो चुके हैं। गौरतलब है कि इसे जेनरेट करने के लिए 15 सेकेंड का एक वॉयस सैंपल रिकॉर्ड करना होता है जिसके बाद ये OpenAI का Voice Engine एक हूबहु आवाज बना सकता है जो सुनने में काफी रियल लगता है।

OpenAI voice engine: क्या है OpenAI का voice engine टूल

OpenAI ने voice engine टूल के बारें में दी जानकारी

OpenAI ने कहा है कि वॉयस इंजन को टेस्टिंग के दौरान ही काफी सतर्कता बरती जा रही है। कंपनी का कहना है कि इसका इस्तेमाल बुरे तरीकों से किया जा सकता है। इसकी वजह से लोगों को धोखा देना या किसी और के होने का नाटक करना जैसे मामले सामने आ सकते हैं। उन्हें पता है कि चुनावी वर्ष के दौरान इसका गलत इस्तेमाल किया जा सकता है। इसलिए हम इसके उपयोग को लेकर सावधानी से काम कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें : TECNO POVA 6 Pro 5G की लॉन्च डेट कन्फर्म! इस दिन भारत में होगा पेश

इस तकनीक पर आधारित है OpenAI का Voice Engine बॉट

इस तकनीक के लिए OpenAI ने ब्राउन यूनिवर्सिटी पायलट प्रोग्राम शुरू किया, जिसमें स्कूल प्रोजेक्ट के लिए रिकॉर्ड किए गए ऑडियो से वॉयस इंजन क्लोन बनाकर एक मरीज की मदद की गई। यह तकनीक कंपनी के पहले से मौजूद टेक्स्ट-टू-स्पीच API पर आधारित है और यह 2022 से काम कर रही है। OpenAI पहले से ही मौजूदा टेक्स्ट-टू-स्पीच API और रीड अलाउड फीचर में उपलब्ध प्रीसेट आवाजों को पावर देने के लिए टूलसेट का उपयोग कर रही।

OpenAI voice engine: क्या है OpenAI का voice engine टूल

फिलहाल प्राइम टाइम के लिए नहीं है उपलब्ध

हालांकि, अभी गंभीर गोपनीयता संबंधी चिंताएं हैं जिसके कारण इसे प्राइम टाइम के लिए उपलब्ध नहीं किया गया है। इसकी टेस्टिंग चल रही है। कई देश इसको लेकर चिंताएं पेश की है। डीपफेक जैसी समस्याओं का भी खतरा है। वॉयस इंजन का परीक्षण करने वाली कंपनियों को सख्त नियमों का पालन करना होगा। वे इसका उपयोग किसी की अनुमति के बिना उसकी आवाज की नकल करने के लिए नहीं कर सकते हैं और जब कोई आवाज AI द्वारा बनाई जाती है तो उन्हें लोगों को बताना होगा।

ये भी पढ़ें : Moscow Terrorist Attack : क्‍या है इस्लामिक स्टेट ISIS-K, जिसने रूस में किया बड़ा आतंकी हमला

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here