Home News Shaheed Diwas 2024 Shayari in Hindi, Bhagat Singh Quotes and Messages

Shaheed Diwas 2024 Shayari in Hindi, Bhagat Singh Quotes and Messages

9
4
Shaheed Diwas 2024 Shayari in Hindi, Bhagat Singh Quotes and Messages

Shaheed Diwas 2024 Shayari in Hindi, Bhagat Singh Quotes and Messages: शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु का नाम देश के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज है। शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु युवाओं के लिए आदर्श और प्रेरणा हैं। शहीद दिवस के रुप में एक बार फिर से उन्हें पूरा देश याद कर रहा है। वैसे तो अंग्रेजों से देश को आजाद कराने में कई लोगों की भूमिका रही है लेकिन भगत सिंह का योगदान देश कभी नहीं भूलने वाला है।

🧡 Poems, Quotes, Status तथा शायरी के लिए Poemswala पर जाएं

भारत में Shaheed Diwas 30 जनवरी के अलावा 23 मार्च को भी मनाया जाता है। 30 जनवरी को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की याद में Shaheed Diwas 2024 के रूप में मनाया जाता है। इसके अलावा 23 मार्च को भी शहीद दिवस मनाया जाता है क्योंकि 23 मार्च 1931 को अंग्रेजों ने भगत सिंह, शिवराम राजगुरु और सुखदेव थापर को को फांसी दे दी थी। इस अवसर पर आप इन हिंदी कोट्स, वॉट्सऐप स्टेटस, फेसबुक मैसेजेस और जीआईएफ इमेजेस को भेजकर उनके बलिदान को याद कर सकते हैं।

Shaheed Diwas 2024 Shayari in Hindi, Bhagat Singh Quotes and Messages

भगत सिंह के कुछ अनमोल विचार (Bhagat Singh Quotes and Messages)

 

लोगों की अभिव्यक्ति और कानून को लेकर भगत सिंह ने कहा था कि,

कानून की पवित्रता तभी तक बनी रह सकती है, जब तक वह लोगों की इच्छा की अभिव्यक्ति करे।

 

जेल में आजाद होने की भावना को व्यक्त करते हुए भगत सिंह ने कहा था कि,

राख का हर एक कण, मेरी गर्मी से गतिमान है, मैं एक ऐसा पागल हूं, जो जेल में भी आजाद है। मैं एक मानव हूं और जो कुछ भी मानवता को प्रभावित करता है उससे मुझे मतलब है।

 

भगत सिंह कोट्स (Bhagat Singh Quotes)

  • जिंदगी तो अपने दम पर ही जी जाती है, दूसरों के कंधों पर तो सिर्फ जनाजे उठाए जाते हैं।

 

  • जो भी विकास के लिए खड़ा है उसे हर चीज की आलोचना करनी होगी, उसे आत्मविश्वास रखना होगा और चुनौती देनी होगी।

 

  • जो नौजवान दुनिया में तरक्की करना चाहते हैं, उन्हें वर्तमान युग में महान और उच्च विचारों का अध्ययन करना चाहिए।

 

Shaheed Diwas 2024 पर शायरी (Shaheed diwad Shayari)

  1. सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है, देखना है जोर कितना बाजु-ए-कातिल में है।

 

  1. इस कदर वाकिफ है मेरी कलम मेरे जज्बातों से अगर में इश्क लिखना भी चाहूँ तो इंकलाब लिखा जाता है।

 

  1. बम और पिस्तौल से क्रांति नहीं आती, क्रांति की तलवार विचारों की सान पर तेज होती है।

ये भी पढ़ें : IPL 2024 : CSK vs RCB Match live, Head to Head, Pitch and Weather report, Playing-11, Dream 11, FAQs

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here